राज्य

कर्नाटक में दंगे की कोशिश! बजरंग दल द्वारा की गई तोड़फोड़, फिल्मकार बोले-क्या 2002 दोहराया जा रहा है?

सांप्रदायिकता की आग में झुलस रहा देश और अब बेहद खतरनाक मुकाम पर पहुंचता हुआ नजर आ रहा है। दक्षिण भारतीय भी आमतौर पर हिंदू और मुसलमान जैसी चीजों से दूर रहने वाला देश भी अब इस सांप्रदायिकता की आग में धू-धूकर जल रहा है।

Advertisement

सोशल मीडिया पर यह तेजी से विडियोज वायरल हो रहे हैं कि जिसमें कर्नाटक के शिमोगा में मुस्लिम इलाके आजाद नगर में कट्टरपंथी संगठन के सदस्यों द्वारा निर्दोष मुसलमानों के घरों पर हमला कर दिया गया है। घरों पर पत्थरबाजी की जा रही है।

सूत्रों के जरिए यह पता चला है कि आज कर्नाटक का शिमोगा दंगों की चपेट में हैं। ये ऐसी बात नहीं थी। कि जिसका अंदाजा किसी को नहीं था। यहां सभी लोग इस बात को जानते थे और वाकिफ भी थें और पहले से चेतावनी दे रहे थें कि यहां धर्म के आधार पर लोगों का मत भड़काओ। आज पूरा कर्नाटक बारुद के ऐसे ढेर पर जाकर खड़ा हुआ है। जहा न जाने, कितने निर्दोष लोग इस दंगे के शिकार होंगे। अगर सरकार चाहती तो इसे रोक सकती थी।

Advertisement

एक विडियो के जरिए यह पता चला है कि लोगों के घरों और उनकी संपत्तियों में आग लगाई जा रही है। और पुलिस भी दर्शक बनी हुई है। कर्नाटक और केंद्र की सत्ताधारी सीधे भाजपा पर आरोप लगाते हुए पूर्व पत्रकार ने लिखा है कि भाजपा इसी आग का इंतजार इतने दिनों से कर रही थी।

इन विडियोज को फिल्मकार विनोद कापड़ी ने भी रिट्वीट करते हुए कहा है कि क्या कर्नाटक को 2002 की तरफ ले जा जा रहा है !उन्होंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस बोम्मई को टैग करते हुए पूछा है कि पुलिस कहा है।और सरकार कहा है। पीएम और सीएम अब कहा हैं।
सूत्रों और विडियोज के जरिए कनार्टक के शिमोगा में बजरंग दल के एक कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई है, जिसके बाद से पूरे इलाके में तनाव फैल गया है. हत्या से भड़के लोगों ने काफी भारी संख्या में इकट्ठे होकर बहुल इलाके में प्रदर्शन किया. और इसी के चलते कई वाहनों में आग भी लगा दिया गया. कई घरों पर हमला कर दिया गया।

पुलिस ने लठी चार्ज भी किया. प्रदर्शनकारियों पर नियंत्रण पाने के लिए । इस इलाके में तनाव का माहौल देखते हुए पुलिस ने धारा 144 लगा दिया है। इस इलाके मे अगले दो तीन दिन के लिए स्कूल और कोचिंग बंद कर दिया गया है हिंसा, प्रदर्शन और तनाव को देखते हुए है. स्थानीय पुलिस इसे हिजाब विवाद से जोड़ कर भी देख रही है क्योंकि पिछले दिनों हिजाब के विरोध में जो प्रदर्शन हुआ, उसमें यह युवक भी शामिल था, जिसकी हत्या के बाद तनाव पैदा हुआ है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
x